jazbat.com
शायरी- ये इश्क की डगर है जहां
शायरी काश ये चेहरा आईना होता वो कभी मेरे भी सामने होता ये इश्क की डगर है जहां वफादारों से वफा नहीं होता…