jazbat.com
शायरी – दिल में हर गम छुपा कर रखा है
दिल में हर गम छुपा कर रखा है जख्म पे महरम लगा कर रखा है ना गिर पाएंगे ये दर्द के शबनम बड़ी मुद्दत से पलकों पर रखा है…