jazbat.com
शायरी – तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं
शायरी मेरी आंखों में सिर्फ तू ही तू बसता है ये मुझे पता है और आईने को पता है तेरे जीने की दुआ मांगती रहती हूं मैं और तूने मुझको दी मौत की सजा है…