jazbat.com
शायरी – मुहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था
मोहब्बत की दुआ तुम तक पहुंच जाती तो अच्छा था तू कभी चल कर हमारे पास आ जाती तो अच्छा था सारी दुनिया का दर्द तेरी दो आंखों में सिमट आया था समंदर की लहरें मेरे दामन भिगो जाती तो अच्छा था…