jazbat.com
शायरी – क्या इश्क मिटा पाएगी तेरी जुदाई
शायरी लिबास में कबसे पहन ली बेवफाई ऐ नाजनीं दिखा दी ये कैसी बेहयाई दिल मेरा तोड़कर सुनो ऐ जानेवाले क्या इश्क मिटा पाएगी तेरी जुदाई…