jazbat.com
शायरी – जिसको दुनिया कभी अपना न सकी
जिसने चाहा नहीं, उसको चाहा बहुत ऐसी चाहत पे आशिक फना हो गया