jazbat.com
शायरी – लबों पे नाम है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं
शायरी लबों पे नाम है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं गजल में दर्द है जिनका उन्हें कुछ भी खबर नहीं जुनूं की तितलियां उड़ती हैं दिल के नर्म फूलों पे फिजा रंगीन है जिनसे उन्हें कुछ भी खबर नहीं…