jazbat.com
शायरी – सुन ले जरा क्या कह रही तुमसे मेरी निगाह
दो आईने को देखकर देखा किया तुझे तेरी आंखों में डूबकर देखा किया तुझे सुन ले जरा क्या कह रही तुमसे मेरी निगाह खामोशियों से बोलकर देखा किया तुझे…