jazbat.com
शायरी – ये दर्द तेरा मेरी जान न ले जाए
शायरी ये दर्द तेरा मेरी जान न ले जाए मेरे दिल के सारे अरमान न ले जाए ऐ मुकद्दर कुछ तो करो हमारे लिए उनको कोई धनवान न ले जाए…