jazbat.com
शायरी – तेरे दिल में भी आंसुओं के परिंदे होंगे
शायरी दर्दे दिल के इन रातों का सबेरा न हो तेरी बेवफाई के उजालों में अंधेरा न हो एक बार इश्क किया जिंदगी में हमने कोशिश किया ये गलती दोबारा न हो…