jazbat.com
शायरी – तू न आई तो अधूरी है जिंदगी की गजल
शायरी चांद सी आंखों से गिरते हैं अश्क से तारे है घनेरी जुल्फ तले नम रात के नजारे दर्द आएगा दबे पांव सुबह की तरह फिर तो सूरज में जलेंगे मेरे अरमां सारे…