jazbat.com
शायरी – कुछ भी नहीं मिलेगा मुझे तेरी दुआ से
शायरी किसको खुदा कहेंगे कोई मेरा खुदा नहीं है कोई भी खुदा तो वो मुझसे जुदा नहीं शायर तो मुहब्बत के सिवा कुछ नहीं चाहे लेकिन जमाने के किसी दिल में वफा नहीं…