jazbat.com
शायरी – सो चुके हैं सभी पर वो जागते ही रहे
शायरी दोस्तों में तुमसे बड़ा कोई न हुआ दुश्मनों में तुमसे बुरा कोई न हुआ जान देने के उसूलों पे जो चलते हैं उनको मरने के सिवा चारा कोई न हुआ…