jazbat.com
शायरी – बेवफा होना था उसे, वो हुआ, बुरा क्या है
शायरी बीती बातों को दुहराने से फायदा क्या है जो हुआ अब उसमें अच्छा-बुरा क्या है किस तरह बांटता है ऐ खुदा बंदों को सिफ़त तेरी दुनिया में ये कम और ज्यादा क्या है…