jazbat.com
शायरी – अब तो करीब आओ कि मुद्दतें हुए मिले
शायरी तन्हाई की फिजा में आशियां की जिंदगी दुनिया की जिंदगी से परेशां है जिंदगी मुरझाया हुआ फूल है अब बुझा-बुझा उजड़े हुए गुलशन में कांटा है जिंदगी…