jazbat.com
शायरी – कोई तू राह बता कैसे मैं बेवफाई करूँ
शायरी इस मुहब्बत में तुमको मैं खुशी दे न सकी कोई तू राह बता कैसे मैं बेवफाई करूँ दर्द के शोलों को हवा दी हमने तेरे दिल में इन गुनाहों से तोबा अब मैं कैसे करूँ…