jazbat.com
शायरी – आईना दूर ना हो मुझसे, मैं तन्हा हूं
आईना दूर ना हो मुझसे, मैं तन्हा हूं साथ रहने दे मेरा अक्स, मैं तन्हा हूं कौन चाहेगी जमाने में दीवाने को हुस्न दौलत है अमीरों को, मैं तन्हा हूं. इमेज शायरी…