jazbat.com
शायरी – कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको
प्यार शायरी तेरी आंखें जादू कर गईं, दिल में आंसू भर गईं हंसती हुई जो मैं जिंदा थी, रोते-रोते मर गई कैसे मैं समझूं तुमको, कैसे तू समझे मुझको जब जुबां न बोलने की कसमें खाके अड़ गई…