jazbat.com
शायरी – क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा
शायरी क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा क्या हुआ है मेरा गिर-गिर के टूटने के सिवा देर हो जाएगी तुमको भी घर जाने तलक तुमने भी सीखा है क्या मुसीबत उठाने के सिवा…