jazbat.com
शायरी – दर्द की आग में मुझको जल जाने दे
शायरी दर्द की आग में मुझको जल जाने दे अब तेरे इश्क में खाक में मिल जाने दे मेरे हर जख्म से रिसते अश्कों ने कहा मुझको आंचल की जमीं पर बरस जाने दे…