jazbat.com
शायरी – दर्द से काम लिया तो हम बदनाम हुए
हम तो मिलने ही गए थे महबूब के शहर उसके दर पे मिला खाक, बड़ा ताज्जुब है