jazbat.com
शायरी – कितनी बार गुजर गई तुम मेरे करीब से | shayari-love shayari-hindi shayari
हम हैं कहीं दूर बैठे तेरी याद में तन्हा मगर दर्द के सिवा मेरे दिल को क्या हासिल कितनी बार गुजर गई तुम मेरे करीब से तेरी परछाई के सिवा आईने को क्या हासिल…