jazbat.com
शायरी – आज फिर इस दिल में आग लगी | shayari-love shayari-hindi shayari
आज फिर इस दिल में आग लगी आज फिर सहरा में बरसात हुई शब के हर कोने में अंधेरा है खाक ही अब तलक है हाथ लगी (सहरा- रेगिस्तान, शब- रात)…