jazbat.com
शायरी – हमसे न पूछिए कि अब तक क्या-क्या देखा है | shayari-love shayari-hindi shayari
हमसे न पूछिए कि अब तक क्या-क्या देखा है अपनों की ही नहीं, जिंदगी को बेवफा होते देखा है…