hindizen.com
ईश्वर का प्रेमी
गड़रिया मार्ग में प्रार्थना कर रहा था: “हे ईश्वर, तू कहां है? मैं तेरी मदद करना चाहता हूं. मैं तेरे जूते झाड़ना और तेरे बालों में कंघी करना चाहता हूं. मैं तेरे कपड़े धोना और लीखें निकालना चाह…