hindipoetryworld.wordpress.com
बात पते की
अपनापन जता के कोई अपना नही बनता । वो तो सच्चाई, सादगी व संस्कार बेबस कर देते है , अपना बनाने के लिए ,ये सदगुण हैं गर तो सब जग अपना ही अपना ।…