hindipoems.org
Hindi Poem On Freedom – उड़ान की शुरुआत
लग रहा था कि ये बात की शुरुआत होगी पर क्या पता था की ये अंत की शुरुआत होगी चलो शुरुआत तो हुई , चाहे अंत की या शुरूआत की पिंजरे में कैद थी वो सोच रही थी फुर्र होने की पर लगे उसके फड़फड़ाने ,हो गई श…