hindipoems.org
Hindi Poem On Festivals – Janmashtami
बंसी बजा के नाचे गोपी संग रास रचाये माखन चुरा के खाया मैया से मार भी खाया आज जनम है आत्मा राम का नटखट कृष्ण भगवान का करो भजन सुमिरो मन दिन रेन राधा रमन – अनुष्का सूरी Bansi baja ke nache Gopi sang …