hindipoems.org
Hindi poem on Baisakhi Festival – Baisakhi ka tyohaar
बैसाखी का त्यौहार देखो है आया बैसाखी का त्यौहार चारों तरफ है छाई फसल की बहार बल्ले बल्ले है आया बैसाखी का त्यौहार ! चलो मिलके डालें भंगड़ा यार अब कटेंगी फसलें हमारी अब होंगी खुशियाँ न्यारी वाह वाह…