hindilovepoems.com
Hindi Poem for Him – सांसों में तू
सांसों में तू सांसों में बसने लगा है तू नींदों में जगाने लगा है तू दुआओं में आने लगा है तू मेरे जीने की वजह बनने लगा है तू घबरा जाती हूँ तुझे तकलीफ में देख कर मुस्कुरा जाती हूँ तुझे करीब मैं देख कर…