hindilovepoems.com
Hindi Love Poem- तुम मिले
कभी तो वक़्त ठहरा होगा जो तुम मिले क्या मुहब्बत की ओस गिरी होंगी जो तुम मिले या खिंचती हुई पवनों ने छुआ था जो तुम मिले समय की उस अबूझ पहेली में कोई तो बात थी जो तुम मिले धीमी सी दिल की धकधक में कुछ …