hindilovepoems.com
Hindi Love Poem-आँखों में है मेरी जो थोड़ी सी नमी
आँखों में है मेरी जो थोड़ी सी नमी क्या बताऊँ तुम्हें बस हैं तुम्हारी ही कमी याद करके तुम्हें नहीं थकता है ये दिल या खुदा आई है ये कैसी मुश्किल तुम्हारी आँखों का वो छलकता पानी लफ्ज़ निकलते थे जो तुम…