hindi.prashantadvait.com
कवितायें
मैं चुप हूँ (1995) असुर – अवतार (1995) मैं (जून 1995) इंसान (अक्टूबर 1995) वह रात (21 अक्टूबर 1995, रात्रि 1 बजे; धनतेरस) तलाश (अक्टूबर 1995) दार्शनिकता(अक्टूबर 1995) क्यों एक बार फिर? (3 मई 1996,…