happinessbypercentage.blog
खुशियों के टुकड़े..🥳
टुकड़ो में मिलती खुशियाँ, ध्यान ना दो तोनहीं दिखतीं, टुकड़े यही जोड़ लेते तो खुशियों की चादर बिछतीं, छोटे छोटे गमों को जोड़ के उदासी तो बना लेते हैं, छोटी छोटी खुशियों से फिर क्यों ना नई हसीं खिलतीं, *…