halchal.blog
कन्दमूल फल, चिलम और गांजा – 2012 की पोस्ट पर री विजिट
… लगता है कि (कम से कम ग्रामीण समाज में) गांजा को एक सीमा तक रिस्पेक्ट प्राप्त है, जो बीड़ी, खैनी या तंबाखू को नहीं……