ekfankaar.wordpress.com
Aaj Bichde Hain
Lyrics by Gulzar आज बिछड़े हैं कल का डर भी नहीं ज़िन्दगी इतनी मुख़्तसर भी नहीं aaj bichde hain, kal ka darr bhi nahin zindagi itni mukhtsar bhi nahin बिछड़ना, Bichadna: Separate, Part, Depart मुख़्तस…