ecstasies.wordpress.com
Tum Pukar lo.. Tumahara Intezaar hai !
एक इंतज़ार है, इन आँखों को, जो जानेकहाँ तक.. उन अंधेरी वीरान हो चुकी गलियो मे, तुम्हे खोजती हैं, जिनसे कभी हम गुज़रे थे ! एक इंतज़ार है, मेरे एहसासों को, जो जाने कब से.. दिल के अंधेरो मे, तन्हा, गु…