dnu1blog.com
हल्की फुल्की बातें
अनिद्रा से अफ़ेयर कभी ना खत्म होता अगर- ना हुई होती हम पर झाड़फूँक उस छायागीत की … एक साल कितना लंबा होता है न… कैसे काट लिया हमने गंगा और गोमती में कितना पानी बह गया न और- हम खड़े खड़े…