bharatbolega.com
हम सुरक्षित कहां हैं?
न सड़कों पर, न लड़कों से. न घर की चार दीवारी में, न दुनिया की जिम्मेदारी में.