bapuashram.wordpress.com
तुम राजा हो तो मैं महाराजा हूँ।
Sant Asaharamji Bapu राजा तेजबहादुर की शोभायात्रा निकल रही थी, उस समय रास्ते पर एक संत बैठे हुए थे। उनका नाम धूलीशाह था। वे हमेशा भूल पर ही बैठे रहते। राजा की सवारी आ रही थी, इसलिए सिपाहियों ने जाक…