anushkasuri.com
Tum sath nahi ho – Hindi poem
तुम साथ नहीं हो तो कुछ नहीं है सब कुछ फीका है सारे दिन फीके हैं सारी रातें फीकी हैं सारी बातें फीकी हैं बहुत याद आती है दिल को सताती है काश तुम मेरे पास आ सकती How to read: Tum sath nahi ho To kuch…