anushkasuri.com
Behakti ye nazar – Hindi Poem On Love
बहकती ये नज़र अब किसे बह्काएगी तेरी याद की ये तड़प अब और कितना तडपाएगी तेरे लब पर खिलती हुई जब एक हंसी आयेगी प्या बताऊँ देख के तुझे ज़ालिम जान ये मेरी जाएगी बादलों से तेज़ बरसात होगी जब अपनी मीठी म…