albeladarpan.blog
शायरी – 22
कहें अपना, दिखें अपना, पर अपनापन कहां पर है