ajeetbharti.wordpress.com
रोहित मर गया, और मरता रहेगा विश्वविद्यालयों के दंड-विधान के कारण
रोहित को मार डाला है इस तंत्र ने। इस हत्या का जिम्मेदार हमारा तंत्र है जहाँ विद्यार्थियों को काऊंसलिंग और बातचीत से समझाने की बजाय उसे बाहर निकाल दिया जाता है और उसके पढ़ने, बढ़ने का सारा ज़रिया रो…