agastyakapoor.in
बनाया तूने
अंगूर तूने बनाये, शराब बनाया तूने, मैं शेख था, ख़राब बनाया तूने | रास ना आयी तुझे जहान की रीत, पहले सुकून था, इज़्तराब बनाया तूने | तुझे शायद खुदा ने ख़ुदा बना दिया, मैं जी रहा था, सैलाब बनाया तूने | खुद तो आया ही नहीं पीने तुझे, शराब पी रहा था, अज़ाब बनाया … Continue reading बनाया तूने