aestheticmiradh.com
शायद .
अब तक उलझी हु अपने सवालो में दो-चार सवाल तू भी पूछ ले, शायद कुछ सुलझ जाये बंधी घुटन की डोर, शायद टूट जाये.…