adisjournal.com
मन आज़ाद है... ~ Adi's Journal
मन आज़ाद है। भलेही पैरोमें पड़ी है बेड़ी, वास्तविकता की, फिरभी वह आज़ाद है।