yatrinamas.com
कौन थी गौरा देवी ? - यात्री नामा
भारत के प्राकृतिक रक्षा के इतिहास में 26 मार्च का विशेष महत्व है। इसी दिन पेड़ों को बचाने के लिए महिलायें उनसे चिपककर खड़ी हो गई थीं और ठेकेदारों को ललकारा था कि पेड़ों से पहले हमें काटना होगा। इस आंदोलन को चिपको आंदोलन के नाम से जाना गया। चिपको आंदोलन का प्रभाव देश के …