giteshsharma.com
सोया ही हुआ था मैं, हमेशा के लिए अभी-अभी ~ गीतेश शर्मा
» भला हो मेरे उस दोस्त का जो दुश्मन के रूप में आया। सोया ही हुआ था, मैं अभी-अभी।। » उस -40℃ में चौबीस घंटे खडे़ रहना, इस उम्मीद में कि मेरे भरोसे कोई सोया हुआ है। सोया ही हुआ हुँ, मैं अभी-अभी।। » म…