shayrana.org
Qatl kare jo masoomon ka baithe chand sitaron par | Shayrana.org
​क़त्ल करें जो मासूमों का बैठें चाँद सितारों पर किसका हक़ है हमें बता ऐ जन्नत तेरी बहारों परहमने जान बचाई है कुछ भोले-भाले बच्चों कीलिक्खा जाए नाम हमारा मस्जिद की मीनारों परधूल झोंकते हैं जनता की आँखों मेँ जो रोज़ो -शबलानत ऐसे नेताओं पर लानत है गद्दारों परशौक़ से खेलो ख़ून की होली लेकिन ये भी याद रहेहमने भी इतिहास लिखा है दिल्ली की दीवारों परहिन्द के दुश्मन होश में आएँ भूलें मत ये सच्चाईहिन्दुस्तानी चल सकते हैं काँटों और अंगारों परये अंधा कानून अगर इंसाफ़ हमें देना चाहेख़ून के धब्बे देख ले आकर बस्ती की दीवारों परलाशों का सौदा करते हैं ये नापाक हुकूमत सेआग लगा दो शहर के इन सब बिके हुए अख़बारों परक़लम छुपाए बैठे हैं जो आज हुकूमत के डर सेसदियाँ लानत भेजेंगी ऐसे घटिया फ़नकारों पर siraj faisal khan